क्षेत्रीय  प्रचार  निदेशालय,  जयपुर    

क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय, जयपुर में आपका स्वागत है
क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय, जयपुर की स्थापना 1958 में की गई थी। निदेशालय के जयपुर स्थित क्षेत्रीय मुख्यालय के कार्यक्षेत्र में राजस्थान के सभी 33 जिले आते हैं। क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय, जयपुर के अंतर्गत 12 प्रचार इकाईयां कार्यरत हैं। प्रत्येक इकाई के अधीन 2-3 जिले शामिल हैं। 12 क्षेत्रीय प्रचार इकाईयां, अजमेर, अलवर, बाडमेर, जैसलमेर, सिरोही, जोधपुर, डूंगरपुर, कोटा, सवाईमाधोपुर, सिरोही, श्रीगंगानगर, और बीकानेर में स्थित है। इन 12 क्षेत्रीय प्रचार इकाईयों में से बाडमेर, जैसलमेर, श्रीगंगानगर, और बीकानेर इकाईयां भारत- पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा क्षेत्र के निकट है जिन्हें सीमावर्ती इकाईयां कहा जाता है।
Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17 Jaipur Images For Aug17

क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय की इकाईयां अपने कार्यक्षेत्र में आने वाले गांवों तथा शहरों में विभिन्न विषयों पर प्रचार कार्यक्रमों का आयोजन करती हैं। इन विषयों में शिक्षा, स्वास्थ्य, सामाजिक सुरक्षा, लिंग चयन निषेध, बेटी- बचाओ बेटी पढाओ, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, जल संरक्षण, महिला सशक्तिकरण, मिशन इन्द्रधनुष, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना इत्यादि प्रमुख है।


प्रधानमंत्री का संदेश

भाषा चैतन्य होती है और उस चेतना की अनुभूति जरूरी है । हमारा ये निरंतर प्रयास होना चाहिये कि हिंदी भाषा समृद्ध कैसे बने, हमें प्रयत्नपूर्वक हिंदुस्तान की सभी बोलियों, हिंदुस्तान की सभी भाषाओं, जिसमें जो उत्तम चीजें हैं उसको हमे समय-समय पर हिंदी भाषा की समृद्धि के लिये, हिस्सा बनाने का प्रयास करना चाहिये, और ये अविरत प्रक्रिया चलती रहनी चाहिये।

- माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी

मुख्य आकर्षण

माह अगस्त, 2017 में क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय, राजस्थान की ओर से 71 गांवों में (13 बार्डर) कुल 562 कार्यक्रम गतिविधियां आयोजित की गई। विशेष जनचेतना कार्यक्रम के अंतर्गत सामाजिक सुरक्षा की 3 योजनाओं (प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और अटल पेंशन योजना) बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान, फसल बीमा योजना, उज्जवला योजना और स्वच्छ भारत अभियान पर लोगों को जागरूक किया गया। इकाइयों द्वारा प्रधानमंती की मन की बात का गाँव में प्रदर्शन किया गया तथा मन की बात में प्रधानमंत्री के द्वारा संबोधित मुद्दों पर समूह चर्चा भी की गयी। इन कार्यक्रम गतिविधियों में 102 फिल्म प्रदर्शन, 282 मौखिक वार्ताएं और 154 फोटो प्रदर्शनियों, 13 प्रश्नोत्तरी तथा 8 SOPs (नए भारत का मंथन संकल्प से सिद्धि)अभियान तथा 3 SOPs (राष्ट्रीय हैंडलूम दिवस) पर आयोजित किए गए। राष्ट्रीय हैंडलूम दिवस के अवसर पर भारतीय हैंडलूम उद्योग पर विषय विशेषज्ञों/मास्टर बुनकरों के व्याखान, हैंडलूम एंड यंग इंडिया विषय पर भाषण, प्रशनोतरी तथा फिल्म प्रदर्शन के आयोजन के साथ साथ 9 बुनकरों को सम्मानित किया गया। नए भारत का मंथन संकल्प से सिद्धि अभियान के दौरान सान्सकृतिक और खेल गतिविधिओं का आयोजन किया गया, स्वतन्त्रता सेनानियों और पूर्व सैनिकों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उन्होने अपने अनुभव भी साझा किए। इन कार्यक्रमों में लगभग 81,755 लोगों को सीधे तौर पर जोडा गया। 8 विशेष कार्यक्रम बाड़मेर-सिरोही, डुंगरपुर-अजमेर, जैसलमेर-जोधपुर-जैसलमेर, कोटा-अलवर, सिरोही-अजमेर, उदयपुर-डुंगरपुर, और श्रीगंगानगर-सवाईमाधोपुर इकाईयों द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किए गए। इन कार्यक्रमों के दौरान 8 जनचेतना रैली भी आयोजित की गई। नए भारत का मंथन संकल्प से सिद्धि अभियान तथा राष्ट्रीय हैंडलूम दिवस पर आयोजित किए कार्यक्रमों के दौरान गीत एवं नाटक प्रभाग द्वारा सान्सकृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। रामदेवरा मेला, पोखरण (जैसलमेर) में जैसलमेर इकाई द्वारा कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है।

क्षेत्रीय प्रचार निदेशालय, राजस्थान के उपरोक्त कार्यक्रमों में श्री राहुल कसवा, सांसद, चुरू; श्री राम नारायण डूडी, संसद राज्यसभा; मोहम्मद अशरफ अली, अध्यक्ष, राजस्थान उर्दू अकादमी(राज्य मंत्री के समकक्ष); श्री शैतान सिंह राठोड़; विधायक, पोखरण (जैसलमेर); श्री अर्जुन लाल गर्ग, विधायक, बिलाड़ा (जोधपुर) और श्री तरुण कुमार कागा, विधायक, चौहटन (बाड़मेर) कार्यक्रमों मे अतिथि के रूप में उपस्थित थे ।

साइट डिजाइन और होस्ट राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एनआईसी) द्वारा दी गई है और डीएफपी जयपुर द्वारा अद्यतन है